सोचना मना है......Interesting Hindi Short Film Story

0
Pic Credit-pikwizard


Short Film (Synopsis): -


"Sochna Mana Hai ......!!" - Suspense Short Film Script in Hindi


(उस दिन जीतेन्द्र घर पर ही होता है जब उसके मोबाइल पर कविता की फोन कॉल आती है।)

जितेंद्र - हेलो ! कविता ! तुम्हारी आवाज में आज इतनी व्याकुलता क्यों है..... क्या हुआ सब ठीक तो है न !

कविता - जीतेन्द्र ! मैं बहुत बड़ी समस्या में पड़ गई हूँ।

जीतेन्द्र - जो भी समस्या है, तुम मुझे बताओ ......

कविता - जितेंद्र ! मेरे पापा के मेडिकल चेकअप में गंभीर बीमारी निकली है। बहुत चिंता हो रही है।

जीतेन्द्र - कविता ! ये तो सचमुच बहुत ही चिंता की बात है मगर तुम चिंता मत करो। इस कठिन समय में भी मैं तुम्हारे साथ साथ खड़ा हूँ ....... और कविता तुम तो जानती हो कि मैं उन लोगो में नहीं हूँ जो अच्छे समय में तो साथ होते है लेकिन बुरा समय आते ही पीठ दिखाकर भाग खड़े होते है।

मैं कल भी तुम्हारे साथ था और आज भी हूँ और आने वाले समय में भी मैं तुम्हारे साथ रहूँगा।


ये भी पढ़े :
Hindi Movie Script – फोन वाला रिश्ता


कविता - वो तो मैं जानती हूँ जीतेन्द्र। तुम्हारे जैसे आदमी विरले ही होते है मगर इस समय मैं बहुत चिंता में हूँ।

जितेंद्र - कविता ! डॉक्टर ने क्या कहा है। कविता तुम मुझे पूरी बातें बताओ

कविता - (जीतेन्द्र को विस्तार से बताते हुए अंत में बोलती है) डॉक्टर ने इसमें पांच लाख खर्च बतलाया है अब मैं क्या करू। हमारे पास तो इतने पैसे नहीं है .....!!

जीतेन्द्र - तुम चिंता मत करो ! मैं तुम्हारे लिए पैसे का इंतजाम करूँगा

कविता - लेकिन तुम कैसे करोगे जितेंद्र ! तुम्हारे पास इतने पैसे कहाँ है !

जीतेन्द्र - कोई बात नहीं पैसे नहीं है मगर घर तो है न ! हम अपना घर गिरबी रखकर पैसे का इंतजाम करेंगे।

कविता - लेकिन ! क्या तुम्हारी माँ तैयार होगी !!

जीतेन्द्र - जरूर होगी ! मेरी माँ मेरी तरह ही किसी का दुःख नहीं देख सकती है और वैसे भी वो तुम्हे बहुत चाहती है। इसलिए मुझे पूरा विश्वास है कि मेरी माँ इसके लिए तैयार हो जायेगी .......!!!


***********

क्या जीतेन्द्र ने कविता के लिए घर को गिरवी रख दिया .....!!!!

क्या कही ऐसा तो नहीं, कविता जीतेन्द्र को धोखा दे रही हो .....!!

कही ऐसा तो नहीं वो किसी दुश्मनी का बदला निकाल रही हो ...... !!!

लेकिन जितेंद्र पर तो प्रेम का जादू छाया हुआ और यहाँ सोचना मना है ...... !!!


ये भी पढ़े :
जब पहली बार वो लड़की मुझे दिखी - खुशी (भाग - 1)




सोचना मना है......!!

"Suspense but Interesting Script In Hindi"

Continue......   Makers / Director / Casting Director स्क्रिप्ट के लिए रायटर से संपर्क करें ......


Writers

Rajiv Sinha
       &
Shikha Shukla

(सर्वाधिकार लेखक के पास सुरक्षित है। इसका किसी भी प्रकार से नकल करना कॉपीराईट नियम के विरुद्ध माना जायेगा।)

Copyright © All Rights Reserved

Tags

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !