Header Ads Widget

सपनों का संसार - कितना सच, कितना छलावा

smrititak.com - सपनों का संसार - कितना सच, कितना छलावा

सपना या स्वप्न (Sapna or Dream) एक ऐसा शब्द है जिससे हमलोग अच्छी तरह से परिचित हैं। देखा जाएं तो, सपने दो प्रकार के होते हैं। एक वो, जो खुली आँखो से देखे जाते हैं और जिनमें भविष्य के लक्ष्यों को निर्धारित किया जाता हैं और दूसरे प्रकार के सपने वे होते हैं जो बंद आँखो मे दिख जाते हैं यानि सोने के बाद जो दृश्य हमारी आँखो के सामने चलचित्र की भाँति घटित होने लगती हैं। तो मैं यहाँ पर इसी प्रकार के स्वप्न की बात करने जा रही हूँ।


Sapne Kitne Apne - सपने कितने अपने : -


नींद (Nind) में आने वाले ये सपने (Dreams) हमारे कितने अपने होते है। तो पहले मै यहाँ बताना चाहती हूँ की सभी प्रकार के सपने सच नही होते हैं इसलिए किसी को भी सपनो को लेकर बहुत अधिक गंभीर नही होना चाहिए। लेकिन इसके साथ ही मै आपको यहाँ यह भी बताना चाहती हूँ की सभी सपने अर्थहीन भी नही होते हैं, कुछ सपनो के अर्थ होते हैं और उनमे जिंदगी मे घटने वाली वास्तविक घटनाओं की थोड़ी बहुत आंशिक झलक होती हैं। बस, जरूरत हैं उन सपनो के अर्थ को समझने की ।

तो मै यहाँ उसी प्रकार के सपनो के बारे मे लिख रही हूँ…...!


ये भी पढ़े :
बड़ी दुर्गा, मुंगेर



सपनो का संसार (Sapno Ka Sansar)


प्रायः कुछ लोगो के सपने (Dream) मे वेलोग आते हैं जो अब इस दुनिया मे नही रहे हैं। वैसे तो इसका कोई विशेष महत्व नही हैं। मगर जब स्वप्न मे कोई विशेष बिंदु या घटना दिख रही हो और सपने के तत्काल बाद आपकी नींद टूट गई हो, तब इसका कुछ महत्व हैं। फिर भी यह सत्य नही हैं कि जो घटना आपने सपने मे देखी हैं, वही घटना आपके साथ घटने वाली हैं। हाँ, इतना कहा जा सकता है कि यह जीवन मे आगे घटने वाली घटना से मिलता जुलता एक संकेत मात्र ही होता हैं। कभी कभी गुजरे हुए व्यक्ति की कोई प्रबल इच्छा होती हैं, जो सपने के माध्यम से वह अपनो तक या जानकारों तक पहुँचाना चाहता हैं। उस परिस्थिति मे ऐसे सपने महत्वपूर्ण हो सकते हैं।

ऐसा देखा गया हैं, हमारे इर्द गिर्द घूमती हुई कई प्रेतात्माएं, जिनमें हमारे अपने - पराए कोई भी हो सकते हैं, जब वे सक्रिय होते हैं तब सहानुभूतिवश वे हमे भविष्य मे घटने वाली घटनाओं को सपनो (Swapna) के माध्यम से दिखलाने का प्रयास करती हैं। ये सपने आम सपनो से अलग होते हैं। ये सपने असाधारण होते हैं। ये सच्चाई के करीब हो सकते हैं।

यहाँ मै आपको यह बताना चाहूंगी की इस तरह के सपनो (Swapn) के दौरान आने वाली भावनाएं काफी तीव्र और ज्वलंत होती हैं। ऐसे मे सपना देखने वाले को यह तनिक भी आभाष नही होता हैं की वह वास्तविकता नही बल्कि एक सपना था। नींद टूटने के बाद भी व्यक्ति पर सपने का प्रभाव कुछ देर तक बना रहता हैं। ऐसे सपने भविष्य मे घटने वाली घटना के संकेत सूचक होते हैं। लेकिन मै ये नही कहती हूँ कि सपने मे दिखाई जाने वाली घटना जैसी ही घटना आगे घटने वाली हैं।


ये भी पढ़े :
कसार देवी मंदिर - सनातन धर्म का एक चमत्कारी स्थल



सपनो की दुनिया: (Sapno Ki Duniya)


कभी कभी कुछ सपने ऐसे भी होते हैं जिसमें सपना देने वाले ईशारे - ईशारे या फिर हाव - भाव के माध्यम से अपनी बातें आपसे कह जाते हैं। आप यदि उनके संकेत को समझ सके तो समझ लीजिए।

प्रायः देखा गया हैं की कुछ लोग जब बहुत कष्ट, पीड़ा या भयानक धोखे का शिकार हो रहे होते हैं तब भी ये अदृश्य शक्तियाँ सक्रिय होकर उन्हें सच्चाई बताने के लिए अलग अलग तरह के सपने देकर सचेत करने लगती हैं। मगर ध्यान रहे। इस प्रकार के सपने कई अच्छी शक्तियाँ भी देती हैं और उन सभी शक्तियों का उद्देश्य किसी को हानि पहुँचाना कतई नही होता हैं। बल्कि वे शक्तियाँ सक्रिय होकर उनकी अदृश्य रूप से ही सही मगर सहायता कर रहे होते हैं।

ये शक्तियाँ भयानक कष्ट के समय भी सहायता देने के लिए स्वप्न देते हैं और मै बताना चाहती हूँ की सभी आत्माएं बुरी भी नही होती हैं। कुछ आत्माएं निःस्वार्थ रूप से आपका सहयोग करने के लिए आगे आती हैं…..!

सपनो से जुड़ी बाते अभी बहुत कुछ हैं! यहां तक की ग्रहो की विभिन दशाओं की चाल भी स्वप्न से जुडी हैं…...!




Written By

Ruby Sinha



Post a Comment

0 Comments