Header Ads Widget

Hi Zindagi - मनोरंजन के साथ प्रेरणा भी - A Motivational Web Series Script In Hindi

Hi Zindagi - मनोरंजन के साथ प्रेरणा भी - A Motivational Web Series Script In Hindi

Script Writer In Delhi


Hi,

अगर आप कोई वेब सीरीज/फिल्म बनाने की सोच रहे हैं और कोई अच्छी सी सामाजिक कहानी तलाश कर रहे हैं, जिसमे ढ़ेर सारा मनोरंजन हो और लोगो को कुछ सीखने को भी मिले, यानि (social story based web series/Film in hindi)   जिसको घर परिवार के बीच बैठकर देखा जा सके। तो आप बिलकुल सही जगह पर आएं हैं। ये जो कहानी हैं, ठीक वैसी ही हैं। ये social web series / Film की story हैं। इसमें सीखने और सिखाने के लिए बहुत कुछ हैं। मार्केट में अभी इस तरह की वेब सीरीज/फिल्म चल भी रही हैं। तो आगे शुरू करते हैं मुख्य टॉपिक पर बातें -


सारांश (Synopsis)


"हेलो जिंदगी" हिंदी वेब सीरीज / फिल्म एक प्रेरणादायी (Inspirational Hindi Web Series) कहानी पर आधारित है। इसमें मनोरंजन के साथ साथ शिक्षा भी छिपी हुई है (Motivational Hindi Web Series)..... वास्तव में, इसकी कहानी कही न कही हमारी रियल लाईफ के आस पास घूमती हुई प्रतीत होती है और अंत में इससे एक मेसेज भी मिलता है -

Hindi Movie Script


इस वेब सीरीज की स्टोरी एक मिडिल क्लास फैमिली के पिता और पुत्र के ऊपर घूमती है।

50 बर्ष का वि के एक मिडल क्लास सिटी के एक कॉलेज के आर्ट्स डिपार्टमेंट में क्लर्क के पद पर कार्यरत है। "वि के" का फुल फॉर्म क्या है, ये कॉलेज के कम ही स्टूडेंट को मालूम है। विशेषकर नए आगंतुक विद्यार्थियों के लिए ये किसी क्विज जैसा होता है। अगर किसी को उनके नाम का फुल फॉर्म मालूम होता है तो उस विद्यार्थी को उस कॉलेज का पुराना विद्यार्थी मान लिया जाता है।


Hindi Web Series : -


वैसे यह एक राज का बिषय है, तो हम भी यहाँ उसे एक राज ही रहने देते है और अब आगे बढ़ते है।

तो हम बात कर रहे थे 50 बर्ष के वि के की, जो कॉलेज के आर्ट्स डिपार्टमेंट में एक क्लर्क के पद पर आसीन हैं। वि के में वैसे तो सब कुछ नार्मल है लेकिन उनमें ऐसी कुछ बातें है जो उन्हें दुसरो से थोड़ा अलग करती है। जैसे की वो किसी न किसी बात को लेकर हमेशा परेशान रहते है। वि के को कॉलेज की सिस्टम / प्रबंधन ( प्रबंध करने व चलाने के तरीके - Management System / Administrative System ) से लेकर राज्य, शहर तक के सिस्टम में कमी दिखती है। वो हमेशा सभी में कमी निकालते रहते है मगर उन कमियों को दूर करने के लिए वो स्वयं कभी भी कोई कोशिश नहीं करते है।


Web Series Script / Story : - >


हाँ, एक कोशिश वो जरूर करते है और वो है, दुसरो को निःशुल्क राय देना, दुसरो को पकड़ पकड़ कर उपदेश देना। इस जिम्मेदारी में वो हमेशा आगे रहते है और वो इसे अपने कर्तव्य की तरह निभाते हैं।

जब कभी मौका मिलता है और कोई स्टूडेंट खाली समय में उनके सामने पड़ जाता है, फिर मजाल है वो उनकी नजर से बचकर निकल जाये। वो उसको बिना ढेर सारी शिक्षा दिए जाने नहीं देते है। इसलिए कई स्टूडेंट उन्हें "नैतिक शिक्षा मंत्री" के नाम से पुकारने लगे है। वो दुसरो को ढेर सारी शिक्षा देते है। मगर वो स्वयं कभी भी उन बातो का पालन नहीं करते है। वो कॉलेज में फ्रेंडशिप को बुरा मानते है, स्टूडेंट को प्रेम प्यार से दूर रहने की सलाह देने में पीछे नहीं रहते है। मगर वो स्वयं कॉलेज की महिला स्टॉफ के साथ इश्कबाजी करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ते हैं।


Best Hindi Web Series:- Hi Zindagi


वि के की आदत है - दोष निकालना, मगर उन दोषो को दूर करने में उन्हें कभी कोई रूचि नहीं रही है। उनका कहना है "मैं तो एक मिडिल क्लास फैमिली का एक मामूली सा क्लर्क हूँ। मेरे पास इतनी पॉवर कहाँ है कि मैं कुछ कर सकूँ। मैं तो केवल कमी निकाल सकता हूँ और वो मैं करता हूँ और आगे भी करता रहूँगा।"


Web Series Script in Hindi : -


"वि के" का एक और अजीब नेचर है। वो किसी के पीठ पीछे जितना बोले मगर मजाल हैं सामने में वो कभी भी उसकी बुराई बता दे। बिलकुल नहीं। सामने में वो एक मृदुभाषी की तरह पेश आते हैं। वो किसी के सामने ऐसे पेश आते है मानो वो उनके जीवन का सबसे प्रिय इंसान हो। "वि के" के इसी भुलावे में कई लोग आ जाते है। दुसरो की बात तो दूर स्वयं कॉलेज के प्रिंसिपल भी "वि के" के भुलावे में रहता हैं और उन्हें एक मृदुभाषी मानव मानने की भूल कर बैठा हैं। जबकि "वि के" कॉलेज के प्रिंसिपल का कट्टर आलोचक है। अब ये अलग बात हैं की जब वो प्रिंसिपल के सामने जाते हैं तो वो उनके सामने ऐसे पेश आते है मानो वो उनके पिछले जन्म के भाई हो और भगवान ने धोखा से उन्हें इस जन्म में उनका भाई नहीं बनाकर कोई अपराध किया हैं। अब ये कलयुग हैं। "वि के" में भी कलयुगी लक्षण हैं और वो अपनी इसी चालाकी के कारण इस बेरहम जिंदगी में भी मलाई खाने में सफल रहे है।


ये भी पढ़े :
Amarjit - A mysterious Man - Horror Thriller Short Film Script in Hindi


लेकिन 50 वर्षीय "वि के" के भी दो सपने है। पहला - "उनका इकलौता बेटा रौशन बड़ा आदमी बन जाये। समाज के लोग उसका नाम सम्मान के साथ ले !" और दूसरा - "Administrative System में सुधार हो !"

इसलिए "वि के" अपने बेटे रौशन को यूपीएससी की तैयारी जी-जान से करने के लिए कहता है और वो अपने बेटे से कहते है कि इसके लिए उसे पैसे कि चिंता करने कि जरुरत नहीं है। चाहे इसके लिए कर्ज ही क्यों न लेना पड़े लेकिन वो अपने बेटे को एक " बड़ा आदमी " बना हुआ देखना चाहते हैं।


ये भी पढ़े :
A Risky Love - Horror Thriller Short Film Script in Hindi


जबकि रौशन अपने पिता "वि के" से बिलकुल ही विपरीत स्वभाव का है। अगर उसे कोई कमी दिखती है तो वो अपनी क्षमता के अनुसार उसे दूर करने की ईमानदारी से कोशिश करता है। लेकिन उसमें भी एक कमी है और वो कमी यह हैं कि वो अपने पिता के गलत निर्णय के विरुद्ध भी हाँ में हाँ लगाता रहता हैं। वो अपने पिता के गलत निर्णय का विरोध नहीं करता है, जिसके लिए आगे चलकर उसे एक बड़ी कीमत चुकानी पड़ती हैं।

रौशन अपने पिता के सपने को साकार करने के लिए यूपीएससी एग्जाम की तैयारी में जुट जाता है। जबकि वो जानता है की आईएएस जैसे सबसे टफ कॉम्पिटिशन को निकालना उसके वश में बिलकुल भी नहीं है। मगर फिर भी वो पिता के सपने को पूरा करने के लिए पूरी ईमानदारी के साथ कोशिश करता है। मगर अंतिम कोशिश के बाद भी वो सक्सेस नहीं कर पाता है।


ये भी पढ़े :
Wah Chudai Ban Gayi Thi - Best Horror Thriller Web Series Script in Hindi


इस असफलता से रौशन निराश है मगर उनके पिता "वि के" निराश नहीं है। अब वो अपने बेटे को आगे बढ़ाने के लिए दूसरा रास्ता निकालते है। वि के अब अपने बेटे को एमएलए के इलेक्शन में खड़ा करने का निर्णय लेता है। बेटा नहीं चाहता है मगर पिता की जिद्द के आगे वो तैयार हो जाता है। कोई भी पार्टी रौशन को टिकट नहीं देती है। मगर वि के को इससे ज्यादा चिंता नहीं होती है। वो अपने खर्च पर बेटे को निर्दलीय खड़ा करता है। पिता के सपने को पूरा करने के लिए रौशन अब चुनाव जीतने के लिए पूरी जोर लगा देता है। मगर वो बुरी तरह से चुनाव हार जाता है। उसकी जमानत जप्त हो जाती हैं।


ये भी पढ़े :
Fata Aanchal (फटा आँचल)-Best Award Winning Short Film Story in Hindi


अंत में "वि के" भी निराश हो जाता है। उनके सपने टूटते हुए दिख रहे हैं। लेकिन रौशन निराश नहीं हैं। अब वो अपनी क्षमता पर ध्यान देता हैं। वो क्या कर सकता हैं, वो उस पर ध्यान देता हैं ........ और आगे चलकर वो अपने पिता वि के दोनों सपनो को साकार करता हैं। लेकिन कैसे ....... ??


***********


Hi Zindagi......!!

"Motivational Web Series / Film"

Continue......  maker can contact for this script


Script Writer

Rajiv Sinha


(सर्वाधिकार लेखक के पास सुरक्षित है। इसका किसी भी प्रकार से नकल करना कॉपीराईट नियम के विरुद्ध माना जायेगा।)

Copyright © All Rights Reserved


Post a Comment

1 Comments