Terms & Condition

Image by rawpixel.com on Freepik

Terms & Condition


• यहाँ सनातन धर्म (हिन्दू धर्म) के लोगो की जीवनी/आत्मकथा ही प्रकाशित की जाती है।


• लेकिन यहाँ वैसे गैर हिन्दुओ की जीवनी को भी पोस्ट की जाती है जिन्होंने सनातन धर्म में घर-वापसी कर ली हों या फिर जिन्हे सनातन धर्म के प्रति गहरी आस्था हो।


• यहाँ वैसे हिंन्दू की जीवनी को भी प्रकाशित नहीं किया जा सकता जिसने अपनी जीवनी में सनातन धर्म के विरुद्ध कोई वाक्य लिखा हो।


• यहाँ वैसे किसी भी व्यक्ति (स्त्री/पुरुष) की जीवनी को भी प्रकाशित नहीं किया जा सकता जिसने अपनी जीवनी में कही पर भी सनातन धर्म के पूज्य व्यक्तियों/गुरूओ/साधु-सन्यासियों अथवा देवी-देवताओ के विरुद्ध कोई वाक्य लिखा हो।


• यहाँ वैसे लोगों की जीवनी को भी प्रकाशित नहीं किया जा सकता जिसकी जीवनी में कोई ऐसी बातें हो जिससे समाज के लिए गलत सन्देश जाता हों।


• जीवनी में किसी प्रकार की अमर्यादित, असामाजिक अथवा गाली-गलौज जैसे शब्द या वाक्य नहीं होने चाहिए।


• जीवनी प्रकाशित करने से पहले उस अमुक व्यक्ति का अपनी वास्तविक पहचान जैसे उसकी स्वयं की आईडी की (डिजिकल) कॉपी एवं लेटेस्ट फोटो एडमिन के साथ साझा करना अनिवार्य है।


• साईट का एडमिन बायोग्राफी पब्लिश्ड किये जाने वाले व्यक्ति की वास्तविक पहचान वाली आईडी (डिजिकल) कॉपी एवं फोटो अपने रिकॉर्ड में तब तक रख सकता है जब तक उसकी जीवनी साईट पर पब्लिश्ड होगी।


• बायोग्राफी पब्लिश्ड कराने वाले व्यक्ति का साईट के एडमिन के पास अपना स्थायी मोबाइल नंबर साझा करना अनिवार्य होगा।


• बायोग्राफी से संबंधित कम से कम एक फोटो बायोग्राफी पब्लिश्ड कराने वाले व्यक्ति (स्त्री/पुरूष) को एडमिन के पास साझा करना होगा क्योकि एक पोस्ट (बायोग्राफी की) में कम से कम एक फोटो का रहना अनिवार्य है। बिना चित्र के पोस्ट (बायोग्राफी) पब्लिश्ड नहीं की जा सकती। साथ ही एडमिन को पोस्ट के साथ पब्लिश्ड करने के लिए भेजा गया कोई भी फोटो अथवा फोटो का संग्रह कॉपीराइट फ्री होना अनिवार्य है। क्योकि वेबसाइट पर पोस्ट के साथ कॉपीराइट फ्री फोटो ही पब्लिश्ड किया जाता है।


• किसी कारण से यदि बायोग्राफी पोस्ट हेतु व्यक्ति (स्त्री/पुरुष) फोटो भेजने में सक्षम नहीं है, अथवा वे (स्त्री/पुरूष) नहीं चाहते हैं कि उनकी वास्तविक पहचान वाले फोटो अथवा पहचान वेबसाइट पर सबके सामने आये तो एडमिन उनकी इस ईच्छा का ह्रदय से सम्मान करता हैं और वैसी स्थिति में एडमिन उनकी जीवनी से मेल खाती कोई (दृश्य/प्रतिक) चित्र किसी अन्य वेबसाइट से या तो खरीद सकता हैं अथवा किसी कॉपीराइट फ्री फोटो प्रोवाइड करने वाली वेबसाइट से प्राप्त करके उनकी बायोग्राफी के साथ पोस्ट कर सकता हैं। ये सभी कार्य बायोग्राफी पब्लिश्ड करवाने वाले व्यक्ति (स्त्री/पुरूष) की स्वीकृति मिलने के बाद ही किया जाएगा। उनकी ईच्छा के अनुरूप ही उनकी बायोग्राफी के साथ कोई फोटो (प्रतिक चित्र) होगा। मगर जैसा पहले चर्चा की गई हैं कि एक पोस्ट में कम से कम एक फोटो का रहना अनिवार्य हैं।


• निर्धारित भुगतान के बाद तय समय के लिए जीवनी/आत्मकथा प्रकाशित की जायेगी।


• बायोग्राफी पब्लिश्ड के लिए भुगतान ऑनलाइन करना होगा।


• बायोग्राफी पब्लिश्ड के लिए भुगतान 100% अग्रिम (एडवांस) करना होगा।


• बायोग्राफी को पोस्ट करने के लिए किया गया भुगतान नॉन रिफंडेबल (Non Refundable) है।


• अगर कोई स्वयं अपनी बायोग्राफी नहीं लिख सकता/सकती है, तो वो रायटर से अपनी बायोग्राफी लिखवा सकता/सकती है मगर उस स्थिति में लेखन की राशि उसके तय मानक के अनुरूप करना होगा। उसका बायोग्राफी के पब्लिकेशन (स्मृति तक वेबसाइट पर पोस्ट) से कोई लेना-देना नहीं माना जायेगा।


• जीवनी केवल हिंदी के देवनागरी लिपि में ही प्रकाशित होगी। साथ ही इस साईट (स्मृति तक) पर पब्लिश्ड होने वाली कोई भी जीवनी केवल देवनागरी लिपि में ही लिखी हुई स्वीकार्य होगी। रोमन या किसी अन्य लिपि में लिखी गई जीवनी इस वेबसाइट के लिए स्वीकार्य नहीं होगी।


• इस साईट (स्मृति तक) पर पब्लिश्ड हेतु भेजी गई जीवनी (टेक्स्ट फॉर्मेट) देवनागरी में कंप्यूटर-टाइप अथवा मोबाइल-टाइप किया होना चाहिए। रोमन या किसी अन्य लिपि में लिखी गई जीवनी इस वेबसाइट के लिए स्वीकार्य नहीं होगी। साथ ही जीवनी की JPG (इमेज फॉर्मेट) भी स्वीकार्य नहीं होगी।


• इस साइट पर पब्लिश्ड कराने के लिए भेजी गई जीवनी/आत्मकथा/ऑटोबायोग्राफी/जीवन की घटना अथवा घटना का संग्रह केवल मेल पर या व्हाट्सप्प पर ही स्वीकार्य होगी।


• यदि जीवनी उन्ही (क्लाइंट) के द्वारा लिखी गई है तो इस बात का उन्हें ध्यान रखना होगा कि उसमें व्याकरण सम्बन्धी गलती कम से कम हो। क्योकि अधिक अशुद्धि रहने पर पोस्ट व कभी कभी वेबसाइट की रैंकिंग पर भी नेगेटिव प्रभाव पड़ता हैं। इससे पढ़ने वालो की उनमे रूचि कम जाती है। परिणामतः इससे पोस्ट व वेबसाइट दोनों की रैंकिंग पर बुरा प्रभाव पड़ता हैं। इसलिए जीवनी लेखन में भाषा व व्याकरण की शुद्धता का पूरा-पूरा ध्यान रखा जाना चाहिए। कोशिश होनी चाहिए कि जीवनी लेखन में कम से कम 90 से 95 प्रतिशत तक व्याकरण संबंधी शुद्धता हो।



Rajiv Sinha

(Admin)

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !